Delhi

About Us

हमारा मुख्य उद्देश्य स्वतंत्र रूप से आर्य समाज प्रचार-प्रसार कार्य से जुड़े हुए पुरोहितों को एक मंच प्रदान करना है। इस ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से हम उनका सहयोग कर सके इसी भावना के साथ आर्य समाज पंडितजी बेबसाइड का निर्माण हुआ है। आज इंटरनेट पर ऑनलाइन बहुत सारे पौराणिक पुरोहित भी अपने आप को आर्य समाज पुरोहित कहकर पूजा कार्य कर रहे है। आवश्यकता थी कि हम भी ऑनलाइन पोर्टल पर आकर इनको रोक सके और आर्य समाज से जुड़ने वाले प्रत्येक व्यक्ति तक आर्य पुरोहितों की सेवा को पहुँचा सके।
अवश्य, आप इसके लिए हमसे संपर्क कर सकते है। परंतु इस बात का ध्यान रखे कि आप स्वतंत्र रूप से कार्य कर रहे है। क्योंकि पूर्व हमने बताया है हमारा उद्देश्य स्वतंत्र रूप से कार्यरत पुरोहितों को इससे जोड़ना है।
नही, आपको विदित है कि प्रति वर्ष गुरुकुलों से हजारों ब्रम्हचारी शास्त्री उत्तीर्ण करके बाहर आते है। कुछ तो आचार्य हेतु यूनिवर्सिटी से आगे की शिक्षा प्रारम्भ कर लेते है परंतु बहुत सारे बह्मचारी आर्य समाज प्रचार हेतु पुरोहित कार्य प्रारम्भ कर लेते है। आर्य समाज मंदिर की संख्या कम होने और पुरोहित हेतु स्थान रिक्त न होने के कारण वो स्वतंत्र रूप से ही कार्य प्रारंभ कर लेते है। प्रारंभिक काल में उन्हें बहुत सारी समस्याओं का सामना भी करना पड़ता है इस बारे में आप भी अवगत होंगे। यदि हम उनकी इस पोर्टल के माध्यम से सहायता कर सके तो हमारे लिए गर्व की बात होगी और इस तरह हम उन्हें आर्य समाज मंच से जोड़ने
error: Alert: Content is protected !!
!-- Global site tag (gtag.js) - Google Analytics -->