Delhi

Blogs

Blogs

Types of Marriage

In this present age of science, however much we may make progress, there is no technology through which a person can be made a human being. But from our religious scriptures, the sages had discovered a technology that was capable of making humans human, which they addressed as Sanskar and… Read more »

Vedic 16 Sanskar

In the Vedic Tradition, there are sixteen religious ceremonies known as Vedic 16 Sanskars or the Sacraments of Life. The Vedic 16 Sanskar is performed for the physical, social, and spiritual development of the individual. Arya Samaj Pandit Ji provides good and learned priests. Please call our helpline. Or you… Read more »

The real definition of Yoga

योग: कर्मसु कौशलं योग (Yoga) शब्द संस्कृत के ‘ युज ‘ धातु से बना हैं जिसका अर्थ है, जोड़ना । अर्थात् किसी कार्य से जुड़ना। जीवन के मुख्य उद्देश्य की प्राप्ति के लिए मन से शरीर से जो अनुष्ठान करने होते है, वही योग हैं। महर्षि पतंजलि ने योग को… Read more »

Holi होली पर्व क्यों मानते है और इसका वैज्ञानिक महत्त्व क्या है ?

होली Holi पर्व क्यों मानते है और इसका वैज्ञानिक महत्त्व क्या है ? वास्तव मे इस पर्व का प्राचीनतम नाम वासन्ती नव सस्येष्टि है अर्थात् बसन्त ऋतु के नये अनाजों से किया हुआ यज्ञ, परन्तु Holi होली होलक का अपभ्रंश है। तृणाग्निं भ्रष्टार्थ पक्वशमी धान्य होलक: (शब्द कल्पद्रुम कोष) अर्धपक्वशमी… Read more »

Aryasamaj आर्य समाज क्या है?

आर्य शब्द का अर्थ है श्रेष्ठ और प्रगतिशील। अतः Aryasamaj का अर्थ हुआ श्रेष्ठ और प्रगतिशीलों का समाज, जो वेदों के अनुकूल चलने का प्रयास करते हैं। दूसरों को उस पर चलने को प्रेरित करते हैं।      आर्यसमाजियों के आदर्श मर्यादा पुरुषोत्तम राम और योगीराज कृष्ण हैं। महर्षि दयानंद ने… Read more »

Kanyadan कन्यादान शब्द का वास्तविक अर्थ?

यह जो शब्द Kanyadan कन्यादान है, इसका गुणगान बहुत सारे पण्डित बड़े जोर शोर से करते हैं। परन्तु यह बड़ी मजेदार बात है की ‘कन्यादान’ यह शब्द वैदिक और पौराणिक वाङ्मय में कही भी नहीं है। मैं कितने ही विवाह संस्कार करवाते समय यह पूंछता हूँ की क्या ‘कन्यादान‘ होना… Read more »

error: Alert: Content is protected !!